ये कैसी कथा... घर वालों ने कर दी 13 साल की बेटी की शादी , अब बना रहे बहाने

मध्‍य प्रदेश के जबलपुर से बाल विवाह का मामला सामने आया है। मामले में शिकायत के बाद महिला एवं बाल विकास विभाग की पूछताछ में पिता ने बाल विवाह होने पुष्टि कर दी, लेकिन बाद में शादी को कथा होना बताकर वह अपने बयान से मुकर गया। बेटी ने भी अपना बयान पलट दिया।

author-image
Vikram Jain
New Update
Jabalpur Child Marriage Case Jabalpur Police Women and Child Development Department
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

नील तिवारी@JABALPUR. जबलपुर से युवक के साथ 13 साल की नाबालिग की शादी कराए जाने का मामला सामने आया है। यहां 13 साल नाबालिग की शादी 20 साल के युवक से करा दी गई। बाल विवाह की कुछ तस्वीरें सामने आने के बाद जिम्मेदार लोगों ने मामले में शिकायत पुलिस से की। पुलिस से शिकायत के बाद हुए लड़की के पिता और पुजारी के बयान के आधार पर इसे कथा बताया जा रहा है। वहीं महिला एवं बाल विकास विभाग ने मामले में गंभीरता नहीं दिखाई है। मामले में दोपहर तक बाल विवाह की पुष्टि करने वाले नाबालिग के पिता ही रात होते-होते अपने बयान से मुकर गए। इतना ही नहीं लड़की भी अपने बयान पर पलट गई और उसने फोटो में दिख रहे युवक को पहचानने से इनकार कर दिया।

जानें क्या है पूरा मामला

मामला जिला मुख्यालय से 20 किलोमीटर दूर पनागर की भरदा ग्राम पंचायत का है। जानकारी के अनुसार पनागर के दुबे परिवार ने अपनी 13 साल बेटी का विवाह सिहोरा के रहने वाले चौबे परिवार के 20 साल बबलू से तय की थी। वर पक्ष को लड़की की उम्र पता होने के बाद भी दोनों परिवारों की सहमति से विवाह तय हुआ और शनिवार को मझौली थाना क्षेत्र के कटाव के मंदिर में दोनों की शादी करा दी गई। जब नाबालिग की शादी होने की कुछ तस्वीरें लोगों के सामने आई तो कुछ जिम्मेदार लोगों ने इसकी शिकायत संबंधित विभाग तक पहुंचाई। जिसके बाद दुबे परिवार के घर पुलिस और महिला बाल विकास विभाग की टीम पहुंची, जहां पर पूछताछ की गई। एक वीडियो भी सामने आया है जिसमें किशोरी के पिता यह मान रहे हैं कि किशोरी की शादी कराई गई है पर उसका गोना कुछ दिनों बाद कराया जाएगा। दोपहर में सामने आए इस वीडियो के बाद भी जिम्मेदार विभाग ने कोई एक्शन नहीं लिया। यहां तक की देर शाम तक पनागर या मझौली पुलिस ने भी इस मामले की पुष्टि नहीं की। 

ये खबर भी पढ़ें...चुनाव के बाद नए जेट की सवारी करेगी MP सरकार ! , विमान की खासियत जानकर हो जाएंगे हैरान

सुबह की शादी रात को कथा में बदल गई

इस मामले में मीडिया ने जब महिला एवं बाल विकास विभाग के बीइओ मनोहर लाल मेहरा से बात की तो उन्होंने बताया कि बाल विवाह का मामला सामने आया है और उन्होंने सुपरवाइजर पार्वती लोधी को मामले की जांच के लिए भेजा है। देर रात तक कार्यवाही की खानापूर्ति के बाद यह सामने आया की नाबालिग सहित उसके पिता इस बाल विवाह से मुकर गए हैं। जहां किशोरी फोटो में अपने पास बैठे युवक को ही पहचान से इनकार कर दिया तो पिता ने बताया कि मंदिर में शादी नहीं कथा कराई गई थी और यही बयान मंदिर के पुजारी ने भी दिए।

ये खबर भी पढ़ें... डॉक्टर पति ने डाक से 3 बार भेजे तलाक के पेपर, पत्नी ने लगाया दहेज प्रताड़ना का आरोप, केस दर्ज

शादी के जोड़े में कैसी कथा

फोटो को देखकर इस बात पर कोई शक नहीं है कि 13 साल की लड़की की शादी हुई है। अगर हिन्दू धर्मिक परंपरा की बात करें तो उनके अनुसार किसी भी पूजन में दाहिनी और बैठने का अधिकार पत्नी का होता है। वहीं पिता के अनुसार बताई गई इस कथा में नाबालिग के बाजू में बैठा हुआ 20 साल का युवक जिसका नाम बबलू चौबे बताया जा रहा है वह बाकायदा दूल्हे की पगड़ी और कंठमाला पहना हुआ है, तो नाबालिग लड़की जो लाल जोड़े में सजी हुई है उसके गले में भी मंगलसूत्र साफ देखा जा सकता है।

ये खबर भी पढ़ें.. जबलपुर : वीडियो बनाने के लिए युवक ने लगाई पुल से छलांग, फिर नहीं लौटे वापस

मामला दबाने की हो रही कोशिश

इन सारे तथ्यों के सामने आने के बाद भी दबाव में किशोरी के बयान सहित बाल विवाह जैसे अपराध में शामिल उसके पिता और मंदिर के पुजारी के बयान पर भरोसा कर यह बाल विवाह का मामला दबाकर कथा में तब्दील कर दिया गया। हालांकि अपनी नाबालिग बेटी को एक युवक के बाजू में बैठाकर पिता कौन सी कथा कर रहे थे यह समझ से परे है। इस मामले में दोपहर में पिता के द्वारा दिए गए बयान के वीडियो के अलावा भी इतने सारे सबूत मौजूद हैं जिन्हें अनदेखा नहीं किया जा सकता।

ये खबर भी पढ़ें... ममता बनी दिग्गी की सारथी, लक्ष्मण ने बनाई चांचौड़ा से दूरी, किले में अंतर्कलह

आईसीपीएस नोडल अधिकारी नदारत

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा बनाई गई एकीकृत बाल संरक्षण योजना (आईसीपीएस) जिसका निर्माण  बाल संरक्षण सेवाओं के लिए किया गया है। उसके जबलपुर के नोडल अधिकारी पंकज तिवारी शनिवार शाम से अब तक फोन नहीं उठा रहे और व्हाट्सएप पर भी उपलब्ध नहीं है। ऐसे में जबलपुर क्षेत्र में बाल सुरक्षा तो भगवान भरोसे ही नजर आ रही है।

जबलपुर बाल विवाह मामला, जबलपुर पुलिस, जबलपुर नाबालिग लड़की की शादी, महिला एवं बाल विकास विभाग मध्य प्रदेश शासन

जबलपुर न्यूज, Jabalpur child marriage case, Jabalpur Police, Jabalpur marriage of minor girl, Women and Child Development Department MP, Jabalpur News

Jabalpur News जबलपुर न्यूज Women and Child Development Department MP महिला एवं बाल विकास विभाग मध्य प्रदेश शासन jabalpur police जबलपुर पुलिस जबलपुर बाल विवाह मामला जबलपुर नाबालिग लड़की की शादी Jabalpur child marriage case Jabalpur marriage of minor girl