कमलेश्वर डोडियार ने 13.34 लाख में लड़ा चुनाव, जानें चुनाव का हिसाब

जानकारी के मुताबिक सबसे गरीब विधायक के तौर पर चर्चा में आए सैलाना विधायक कमलेश्वर डोडियार ने 13.34 लाख रुपए चुनाव में खर्च किए। बीजेपी के टिकट पर देपालपुर से चुनाव लड़े मनोज पटेल ने सबसे कम 18,495 रुपए खर्च किए।

author-image
Pooja Kumari
New Update
Assembly Election
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

BHOPAL. हाल ही में मध्यप्रदेश की 230 विधानसभा सीटों पर हुए चुनाव में उतरे 2533 प्रत्याशियों में से 2438 ने अपने चुनावी खर्च का लेखा-जोखा चुनाव आयोग को दे दिया है। नियम के अनुसार एक प्रत्याशी चुनाव में 40 लाख रुपए तक खर्च कर सकता है, लेकिन बीजेपी और कांग्रेस के किसी भी प्रत्याशी ने इतनी राशि खर्च नहीं की।

यह खबर भी पढ़ें - नीतीश भारद्वाज Vs IAS स्मिता विवाद, एक्टर बोले- 1 करोड़ से ज्यादा खर्च

मनोज पटेल ने सबसे कम 18,495 रुपए किए खर्च

जानकारी के मुताबिक सबसे गरीब विधायक के तौर पर चर्चा में आए सैलाना विधायक कमलेश्वर डोडियार ने 13.34 लाख रुपए चुनाव में खर्च किए। बीजेपी के टिकट पर देपालपुर से चुनाव लड़े मनोज पटेल ने सबसे कम 18,495 रुपए खर्च किए। चाचौड़ा से चुनाव लड़े कांग्रेस के लक्ष्मण सिंह ने 42,500 रुपए चुनावी खर्च बताया है। बता दें कि मनोज तो चुनाव जीत गए, लेकिन लक्ष्मण सिंह हार गए।

कमलनाथ ने पार्टी से नहीं लिया फंड 

शिवपुरी से कांग्रेस प्रत्याशी केपी सिंह ने 37.38 लाख रुपए खर्च किए। थांदला से बीजेपी प्रत्याशी कल सिंह भाबर ने 37.76 लाख रुपए खर्च किए और दोनों ही चुनाव हार गए। सीएम डॉ. मोहन यादव उज्जैन दक्षिण से चुनावी मैदान में थे। उन्होंने 19.67 लाख रुपए खर्च किए। चुनावी खर्च से पैसा बचा तो पार्टी फंड के 1.66 लाख रुपए लौटा भी दिए। वहीं, तत्कालीन मुख्यमंत्री और बीजेपी से बुधनी प्रत्याशी शिवराज सिंह चौहान ने 18.80 लाख रुपए खर्च किए। उन्हें पार्टी फंड से 20 लाख की राशि मिली थी। कमलनाथ ने चुनाव लड़ने के लिए पार्टी फंड से कोई राशि नहीं ली। हलफनामे के अनुसार उन्होंने 17 लाख 15 हजार 400 रुपए की राशि खुद ही खर्च की।

यह खबर भी पढ़ें - INDORE में 7 मंजिला रेलवे स्टेशन का वर्चुअली भूमिपूजन आज

कांग्रेस ने प्रत्याशियों को चुनाव लड़ने के लिए दिए 30 लाख रुपए 

कांग्रेस ने इस बार अपने उम्मीदवारों पर बीजेपी से ज्यादा रुपए खर्च किए। कांग्रेस ने अपने प्रत्याशियों को चुनाव लड़ने के लिए 30 लाख रुपए दिए थे तो बीजेपी ने सिर्फ 20 लाख रुपए ही दिए। इस चुनाव में 31 मंत्रियों में से 12 मंत्री हार गए थे। इसमें राजवर्धन सिंह दत्तीगांव ने 24.84 लाख रुपए, नरोत्तम मिश्रा ने 23.43 लाख रुपए, महेंद्र सिंह सिसोदिया ने 24.62 लाख रुपए, सुरेश धाकड़ ने 20.05 लाख रुपए, रामखेलावन पटेल ने 23.77 लाख रुपए, राहुल सिंह लोधी ने 22.99 लाख रुपए, भारत सिंह कुशवाह ने 23.98 लाख रुपए, रामकिशोर कांवरे ने 32.27 लाख रुपए और गौरीशंकर बिसेन ने 28.38 लाख रुपए खर्च किए। प्रेम सिंह पटेल ने 27.74 लाख रुपए, अरविंद भदौरिया ने 14.16 लाख रुपए, कमल पटेल ने 32.28 लाख रुपए खर्च किए।

केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने खर्चे 29.87 लाख रुपए 

चुनावी रण में मंडला की निवास सीट से चुनाव लड़े केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने 29.87 लाख रुपए खर्च किए। सतना से चुनाव लड़े सांसद गणेश सिंह ने 33.18 लाख रुपए खर्च किए। पूर्व मंत्री इमरती देवी ने 20.09 लाख खर्च किए। विधानसभा अध्यक्ष नरेन्द्र सिंह तोमर ने 19.15 लाख रुपए खर्च किए। उन्होंने चुनावी खाते में 27.05 लाख रुपए जमा किए थे। प्रहलाद पटेल ने चुनावी खाते में 20.45 लाख रुपए जमा किए और इसमें से 20.03 लाख रुपए की राशि ही खर्च की। 

यह खबर भी पढ़ें - इंदौर सांसद टिकट के लिए कांग्रेस में शेखावत का नाम दिल्ली से आया, लेकिन वह चुनाव लड़ने के मूड़ में नहीं

पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने खर्चे 34.51 लाख रुपए

इसी तरह इंदौर -1 से मैदान में उतरे कैलाश विजयवर्गीय ने चुनावी खाते में 40.10 लाख रुपए जमा किए, लेकिन चुनाव में 31.52 लाख रुपए ही खर्च किए। गाडरवारा से चुनाव लड़े सांसद राव उदयप्रताप सिंह ने महज 20.40 लाख खर्च किए। जबलपुर पश्चिम से मैदान में उतरे सांसद राकेश सिंह ने चुनावी खाते में 36.33 लाख रुपए जमा किए, लेकिन 24.50 लाख रुपए खर्च किए। सीधी से चुनाव लड़ीं सांसद रीति पाठक ने 28.47 लाख रुपए खर्च किए। विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के कई दिग्गज नेताओं को भी हार का सामना करना पड़ा। इनमें से राऊ से जीतू पटवारी ने 20.12 लाख रुपए, लहार से डॉ. गोविंद सिंह ने 13.15 लाख रुपए खर्च किए। जबलपुर से पूर्व मंत्री तरुण भनोत ने 17.06 लाख रुपए, गोटेगांव से पूर्व विधानसभा अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति ने 16.87 लाख रुपए, सिहावल से कमलेश्वर पटेल ने 27.49 लाख रुपए, भोपाल दक्षिण-पश्चिम से पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने 34.51 लाख रुपए और सोनकच्छ से सज्जन सिंह वर्मा ने 26.16 लाख रुपए खर्च किए।

यह खबर भी पढ़ें - Indore में पेरेंट्स ने दान की बेटे की आंखें

इन विधायकों ने खर्चे इतने रुपए 

हलफनामे के अनुसार प्रदेश के दोनों डिप्टी सीएम ने भी चुनाव में जमकर पैसा खर्च किया। वहीं जगदीश देवड़ा ने 28.54 लाख रुपए खर्च किए, उन्होंने अपने चुनावी खाते में 45.11 लाख जमा किए थे। इसी तरह राजेन्द्र शुक्ला ने 31 लाख खर्च किए, जबकि उनके खाते में 44.50 लाख रुपए जमा थे। मंत्री विजय शाह ने 33.04 लाख रुपए, करण सिंह वर्मा ने 22.27 लाख रुपए, मंडला से पहली बार विधायक बनी संपतिया उइके ने 24.46 लाख रुपए, तुलसी सिलावट ने 29.88 लाख रुपए, गोविंद सिंह राजपूत ने 33.26 लाख रुपए, विश्वास सारंग ने 20 लाख रुपए खर्च किए।

मंत्री विश्वास सारंग ने सिर्फ पार्टी फंड से मिली राशि खर्च में दिखाई। वहीं, प्रद्युमन सिंह तोमर ने 27.84 लाख रुपए, नारायण सिंह कुशवाह ने 21.86 लाख रुपए और इंदर सिंह परमार ने 26.98 लाख रुपए चुनावी खर्च बताया।

कैलाश विजयवर्गीय मोहन यादव कमलेश्वर डोडियार फग्गन सिंह कुलस्ते