Advertisment

मप्र के रियल लाइफ पैड मैन, जागरुकता फैलाने कर रहे हैं साइकिल यात्रा

सुरेंद्र अभी दर्शनशास्त्र से एमए कर रहे हैं वहीं पिता मजदूरी करते हैं, वहीं महिलाओं को उनके अधिकारों से जागरूक करने सुरेन्द्र मप्र के सभी जिलों की साइकिल यात्रा पर निकले हैं। सुरेन्द्र ने 6 दिसंबर 2023 से नर्मदापुरम से साइकिल यात्रा की शुरुआत की थी।

author-image
Jitendra Shrivastava
New Update
pad man

मप्र के रियल लाइफ पैड मैन सुरेंद्र बामने।

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

नील तिवारी, JABALPUR. अक्षय कुमार की फिल्म पैड मैन की की तर्ज पर महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए सेनेटरी पैड के उपयोग की अलख जगा रहे हैं नर्मदापुरम के सुरेंद्र बामने। सुरेंद्र महिलाओं को सेनेटरी पेड के लिए जागरूक करने के लिए और सरकार द्वारा निशुल्क सेनेटरी पैड उपलब्ध कराने हेतु जागरूकता फैलाने 6 दिसम्बर को नर्मदापुरम से साइकिल यात्रा पर निकले हैं। 70 दिनों की इस यात्रा में आज वह 34 जिलों की यात्रा पूरी कर जबलपुर पहुंचे और जिला कलेक्टर जबलपुर से मुलाकात की।

Advertisment

कौन हैं सुरेन्द्र बामने और क्योंकि यात्रा की शुरुआत

सुरेन्द्र बामने नर्मदापुरम के केसला ब्लॉक के ग्राम अमराई के रहने वाले हैं। सुरेन्द्र के पिता मजदूरी करते हैं, सुरेंद्र दर्शनशास्त्र से एमए कर रहे हैं। महिलाओं को उनके अधिकारों ओर उनसे जुड़े विषयों को लेकर जागरूक करने के उद्देश्य से सुरेन्द्र बामने  मध्यप्रदेश के सभी जिले के लिए साइकिल यात्रा पर निकले हैं। सुरेन्द्र ने 6 दिसंबर 2023 को नर्मदापुरम से साइकिल यात्रा की शुरुआत की थी और मंगलवार को 34 वें जिले जबलपुर पहुंचे।

CBSE के नाम से कई फर्जी ट्विटर अकाउंट्स, जानिए कौनसा है ऑफिशियल हैंडल

Advertisment

राज्य सेवा परीक्षा मेंस 2023 की तारीख नहीं बढ़ेगी, आयोग का फैसला

महिलाओं को सम्मान 

सुरेंद्र बामने बताते हैं कि उसे एक हादसा बार-बार याद आता है, ट्रेन में सफर के दौरान उसने एक बालिका को पीरियड्स आने पर सैनिटरी पैड के लिए परेशान होते देखा। तब उन्होंने अपने बैग से बनियान देकर बालिका की मदद की थी और वही समस्या उसने अपने गांव में भी देखी, बस उसी समय से ठान लिया कि मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव से मिलकर इस समस्या से अवगत करवाना है। जिससे पूरे मध्यप्रदेश में महिलाओं को सम्मान मिल सके और आसानी से उसे जरूरत पड़ने पर जगह-जगह निशुल्क पैड मिल सकें।

अब तक इतने जिलों की कर चुके यात्रा

सुरेन्द्र ने नर्मदापुरम से यात्रा की शुरूआत की थी। हरदा, खण्डवा, बुरहानपुर, खरगोन, बड़वानी, अलीराजपुर, झाबुआ, धार और इंदौर होते हुए देवास और उज्जैन की यात्रा हो चुकी है। ये 12वां जिला है अब यहां से रतलाम के लिए यात्रा होगी। सुरेन्द्र बामने महिलाओं को उनके अधिकारों ओर उनसे जुड़े विषयों को लेकर जागरूक करने के उद्देश्य से मध्यप्रदेश के सभी जिले के लिए साइकिल यात्रा पर निकले हैं। जिस साइकिल से सुरेंद्र निकला है उसे उसके दोस्तों ने गिफ्ट की है और उसी नई साइकिल से उसने यात्रा को शुरू किया था।

मध्यप्रदेश जागरुकता पैड मैन
Advertisment
Advertisment