एमपी में फर्जी भर्ती : प्रदेश के 4 नगर परिषदों के 249 कर्मियों की सेवा समाप्त और 8 कर्मी बर्खास्त

एमपी के दो जिलों की 4 नगर परिषदों में भर्ती मामले के घोटाले में शासन ने बड़ा एक्शन लिया है। सरकार ने इस मामले में चार नगर परिषदों के 249 कर्मियों की सेवा समाप्त कर दी है, वहीं  8 कर्मियों को बर्खास्त किया गया है

author-image
Sandeep Kumar
New Update
PCH

मध्‍य प्रदेश के 4 नगर परिषदों में सरकार ने बड़ी कार्रवाई की

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

BHOPAL. मध्य प्रदेश (  Madhya Pradesh ) के शहडोल ( Shahdol ) और अनूपपुर ( Anuppur ) जिले के 4 नगर परिषदों में हुए भर्ती में गड़बड़ी का मामला सामने आया है। इस गड़बड़ी ने मंत्रालय में खबलबली मचा दी है। अनूपपुर जिले की डोला, डूमरकछार, बनगंवा और शहडोल जिले की बकहो नगर परिषद  ( City Council ) में उजागर हुए भर्ती घोटाले से सबंधित मंत्रालय ने बड़ी कार्रवाई की है। ग्राम पंचायतों और नगर परिषद में फर्जी तरीके से भर्ती हुए 249 कर्मचारियों की सेवा समाप्त कर दी है। विभाग ने 8 अफसरों को भी बर्खास्त कर दिया है, जिन्होंने इन कर्मचारियों का संवीलियन कराने में भूमिका निभाई। ऐसा पहली बार हुआ है, जब इतने बड़े स्तर पर कर्मचारी-अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई हुई है।

ये खबर भी पढ़िए....MPPSC PRE 2024 अब जून में ही होगी, सोमवार को आयोग तारीख बढ़ाने के लिए करेगा बैठक

ये खबर भी पढ़िए...अबकी बार आचार संहिता में ही मनेगी होली और ईद , शादी में बैंड-बाजे के लिए लेनी होगी इजाजत

इन कर्मियों के खिलाफ FIR के आदेश

दरअसल तीन साल पहले फर्जी तरीके हुई भर्ती हुई थी। जिसकी जांच करने पर पाया गया कि बड़ी में घोटाला उजागर हुआ था। इस घोटाले में पहचाने गए आरोपियों के खिलाफ अब कमिश्नर नगरीय प्रशासन एवं विकास ने संयुक्त संचालक नगरीय प्रशासन एवं विकास संभाग शहडोल को इन सभी कर्मचारियों के खिलाफ FIR कराने के आदेश दिए हैं। ये भर्ती घोटाला 2021 में तब उजागर हुआ था।  जब इस गड़बड़ी की तत्कालीन मंत्री और लोकायुक्त में शिकायत की गई। चार अलग-अलग शिकायतें मिलने के बाद विभाग स्तर पर एक कमेटी बनाई गई।

विभाग वसूलेगा जिम्मेदारों से राशि

ये खबर भी पढ़िए..MP Lok Sabha Chunav : 29 सीटों पर चार चरणों में चुनाव, जानें कार्यक्रम



घोटाले की जांच के लिए गठित की गई कमेटी ने अपनी जांच रिपोर्ट कमिश्नर को सौंपी, इसके बाद कार्रवाई शुरू कर दी गई है। जांच में सामने आया कि इन चारों नगर परिषदों में भर्ती हुए कर्मचारियों को करीब 3.20 करोड़ रुपए तनख्वाह के तौर पर बंट गए। अब विभाग इसके लिए जिम्मेदार अफसरों से इतनी राशि वसूल करने की भी तैयारी कर रहा है।

ये खबर भी पढ़िए...अब 15 दिन का होगा RSS का पहला प्रशिक्षण वर्ग, नया नाम होगा संघ शिक्षा वर्ग

Madhya Pradesh shahdol नगर परिषद anuppur 4 नगर परिषदों भर्ती घोटाले डोला डूमरकछार बनगंवा