Advertisment

इंदौर में मिलावटखोरों के खिलाफ यह वाट्सएप नं. 9406764084 सेव कर लीजिए

कलेक्टर आशीष सिंह ने मिलावट करने वालों की शिकायत करने के लिए एक नया वाट्सएप नंबर 9406764084 जारी कर दिया है। इस हेल्पलाइन व्हाट्सएप नंबर/एप में कोई भी नागरिक मिलावट संबंधी सूचनाएं दे सकते हैं। जिस पर प्रशासन की टीम जांच कर कार्रवाई करेगी। मध्यप्रदेश

author-image
Jitendra Shrivastava
New Update
मिलावटखोरों की शिकायत करने वाट्सएप नं. जारी किया

मिलावटखोरों की शिकायत करने वाट्सएप नं. जारी किया

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

संजय गुप्ता, INDORE. मप्र की व्यावसायिक राजधानी इंदौर मिलावट की राजधानी बनती जा रही है। हाल ही में हुई छापेमारी में यहां पर खाद्य पदार्थों में घातक केमिकल मिलाने की बात भी सामने आई है। इन सभी को देखते हुए अब कलेक्टर आशीष सिंह ने एक नया वाट्सअप नंबर 9406764084 जारी कर दिया है, इस हेल्पलाइन व्हाट्सएप नंबर/एप में कोई भी नागरिक मिलावट संबंधी सूचनाएं दे सकते हैं। जिस पर प्रशासन की टीम जांच कर कार्रवाई करेगी।

Advertisment

जिला समिति बैठक में फैसला

खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम के तहत गठित जिला स्तरीय सलाहकार समिति बैठक में कलेक्टर आशीष सिंह ने कहा कि असुरक्षित तथा अमानक खाद्य पदार्थों का निर्माण और विक्रय करने वालों को किसी भी हाल में नहीं छोड़ा जाएगा। उनके विरुद्ध आपराधिक प्रकरण भी कायम किए जाएंगे। मिलावट से मुक्ति अभियान को गति देकर और अधिक प्रभावी बनाया जाएगा। 

राज्य सेवा परीक्षा मेंस 2023 की तारीख नहीं बढ़ेगी,सोमवार को अंतिम बैठक

Advertisment

हनी ट्रैप की गुलाबी डायरी से निकले BJP के पूर्व विधायक, अफसर और ठेकेदार के नाम

दूध बेचने वाली डेयरी में फेट चेक मशीन होगी जरूरी

कलेक्टर सिंह ने कहा कि इंदौर में दुग्ध विक्रय करने वाली सभी डेयरियों में दूध की गुणवत्ता (फेट) चेक करने की मशीनें लगाना अनिवार्य होगा। इस संबंध में धारा-144 के अंतर्गत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए जा रहे हैं। कलेक्टर आशीष सिंह की पहल पर मिलावट संबंधी सूचनाएं प्राप्त करने के लिये व्हाट्सएप हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है। 

Advertisment

निगम के एप पर भी देंगे सुविधा

वाट्सअप नंबर के साथ ही नगर निगम के एप-311 तथा एक अन्य एप आहार में भी सूचनाएं एकत्र करने की व्यवस्थाएं की जा रही है। बैठक में समीक्षा के दौरान बताया गया कि मिलावट से मुक्ति अभियान के अन्तर्गत गत एक वर्ष में अमानक तथा असुरक्षित 8203 किलो खाद्य सामग्री जप्त की गई। इसका मूल्य लगभग 11 लाख रुपए है। न्यायालयीन कार्रवाई के तहत 91 प्रकरण दर्ज कराए गए। इसमें से 61 प्रकरणों में निर्णय हुआ। इसमें 70 लाख का अर्थदण्ड किया गया।

पिछले दिनों 26,750 किलो सौंफ की थी जब्त

कलेक्टर आशीष सिंह के निर्देश पर खाद्य सुरक्षा अधिकारियों और राजस्व विभाग की संयुक्त कार्रवाई में फर्म जैन ट्रेडर्स जीएनटी मार्केट का निरीक्षण किया था। यहां जैन ट्रेडर्स पर सौंफ की ग्रेडिंग की जा रही थी। सौंफ के दो नमूने लेकर करीब 900 किलो सौंफ जब्त की थी। इसी तरह हिम्मत नगर पालदा में फर्म यू एंड मी का निरीक्षण कर सौंफ के दो नमूने लिए और सौंफ में कलर मिला होने की आशंका पर कुल 13 हजार 150 किलो सौंफ जब्त की थी। फर्म श्री पाल रत्नलाल, लाबरिया भेरू में नौ हजार किलो सौंफ जब्त की गई थी। 

वाट्सअप इंदौर में मिलावटखोरी नं. 9406764084
Advertisment
Advertisment