Cyber ठग नए तरीकों से बना रहे लोगों को निशाना, ठगों से ऐसे बचें

आपके पास अंजान नंबर से फोन आता है और वह कहता है कि आपके बच्चे को किसी अपराध में गिरफ्तार कर लिया है, उसे छुड़ाना चाहते हैं तो इस अकाउंट में फौरन रुपए ट्रांसफर कर दो। ये आपके साथ सायबर ठगी हो सकती है, इसके झांसे में न आकर इस नंबर पर शिकायत करें...

author-image
Jitendra Shrivastava
New Update
THESOOTR
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

BHOPAL. सायबर ( Cyber ) सेल ने सायबर ठगी के लिए आजकल नए-नए तरीके इजाद कर लिए हैं। बैंक खाते से पैसे निकालने के लिए लिंक भेजने, ओटीपी मांगने के बाद अब नए तरीकों से भी ठगी की जा रही है। इससे लोगों को जागरूक करने के लिए सायबर क्राइम सेल ने वीडियो जारी कर बचाव के तरीकों की जानकारी साझा की है। सायबर क्राइम के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। तकनीकी तौर पर पुलिस की सायबर टीम भी मजबूत हुई है, और आरोपितों की धरपकड़ भी की जा रही है। अब सायबर सेल लोगों की जागरुकता को लेकर काम कर रही है।

इन नए तरीकों से सायबर ( Cyber ) ठगी को दे रहे अंजाम...

आनलाइन पार्ट टाइम जाब

सायबर ( Cyber ) अपराधी फेसबुक, इंस्टाग्राम, टेलीग्राम पर आनलाइन पार्ट टाइम जाब के नाम पर टास्क देते हैं। जिसको पूरा करने पर शुरुआत में कुछ रुपये भी आपको भेजे जाते हैं, लेकिन बाद में लालच देकर लाखों रुपए ऐंठ लिए जाते है। कई बार आनलाइन किए गए काम में गलती होने से कंपनी को नुकसान होना बताकर पेनाल्टी के रूप में वसूली कर ली जाती है।

बच्चों के नाम से

सायबर अपराधी किसी अनजान नंबर से फोन कर कहते हैं कि आपका बेटा/बेटी एक संगीन अपराध में संलिप्त है जिसे हमने गिरफ्तार कर लिया है। उसे छुड़ाना चाहते हो तो तुरंत हमारे बताए अकाउंट में रुपए ट्रांसफर कर दो। सायबर अपराधी आपको विश्वास दिलाने के लिए बच्चे का नाम या उसकी व्यक्तिगत जानकारी भी बताते हैं और बेटे/ बेटी से मिलती जुलती आवाज में किसी से बात भी करवाते हैं। इस दौरान हिदायत भी देते हैं कि आपके बेटे/बेटी से संपर्क करने का प्रयास मत करना, क्योंकि उसका फोन सर्विलेंस पर है। 

क्रिप्टो करेंसी

फेसबुक, इंस्टाग्राम एवं प्लेटफॉर्म पर कम समय में पैसा (क्रिप्टो करेंसी) दुगुना करने का लालच देकर निवेश करवाया जाता है। निवेश करवाने के बाद ये एप्लीकेशन बंद हो जाते हैं और हमारा सारा पैसा डूब जाता है।

अश्लील साइट सर्चिंग के नाम पर

सायबर ठग ईमेल आईडी पर फर्जी ई मेल भेजकर अश्लील साहित्य सर्च करने आदि के नाम पर लीगल नोटिस बना कर भेजते हैं और कानूनी कार्रवाई के नाम से डराकर पैसे की मांग करते हैं। इस प्रकार के फर्जी ईमेल, फोन, मैसेज पर विश्वास न करें।

ये खबरें भी पढ़ें...

बिना ड्राइवर के 84 किलोमीटर तक दौड़ती रही Train, रेलवे में मचा हड़कंप

Gmail के दबदबे को मिलेगी चुनौती, एलन मस्क लॉन्च करेंगे Xmail

Paytm Bank में फंसे पैसे, जानिए कैसे निकलेंगे!

अब नहीं होगा मन की बात का प्रसारण, जानिए PM मोदी ने क्या कारण बताया

यहां करें शिकायत

किसी भी प्रकार की सायबर धोखाधड़ी हो जाने पर तुरंत सायबर ( Cyber ) हेल्प लाइन नंबर 1930 पर या नजदीकी पुलिस थाने व सायबर सेल पर संपर्क करें। साइबर क्राइम रिपोर्टिंग पोर्टल (www.cybercrime.gov.in) एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है, जहां आप साइबर क्राइम से संबंधित शिकायतें रिपोर्ट कर सकते हैं. इस पोर्टल की मदद से लोग हैकिंग, ऑनलाइन फ्रॉड, आइडेंटिटी की चोरी, साइबरबुलिंग और विभिन्न प्रकार के साइबर क्राइम की रिपोर्ट कर सकता है।

कैसे करें शिकायत ?

  • सबसे पहले https://cybercrime.gov.in/ पर जाएं। इसके बाद होमपेज पर दिख रहे शिकायत दर्ज करें के बटन पर क्लिक करें। 
  • अन्य साइबर अपराध की रिपोर्ट करें' बटन पर क्लिक करें
  • नागरिक लॉगिन' विकल्प चुनें और नाम, ईमेल और फोन नंबर जैसी जानकारी दें।
  • अपने रजिस्टर्ड फोन नंबर पर भेजे गए ओटीपी को दर्ज करें, कैप्चा भरें और सबमिट बटन क्लिक करें।
  • अगले पेज पर, उस साइबर अपराध के बारे में जानकारी प्रदान करें जिसकी आप रिपोर्ट करना चाहते हैं।
  • इस फॉर्म को चार भागो में विभाजित किया गया है-इंसिडेंट, सस्पेक्ट, कंप्लेंट डिटेल्स समेत प्रीव्यू और सबमिट. प्रत्येक भाग में मांगी गई आवश्यक जानकारी दें।
  • जानकारी वेरिफाइड करें और 'सबमिट' बटन पर क्लिक करें।

फ्रॉड से बचने के लिए अपनाएं ये टिप्स

  1. अपना पर्सनल डेटा किसी को भी शेयर न करें।

  2. किसी भी ऑफर के लिंक पर क्लिक न करें।

  3. पैन कार्ड, आधार, डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड का पिन, कार्ड नंबर किसी के साथ शेयर न करें।

  4. अलग-अलग अकाउंट के लिए हमेशा अलग-अलग पासवर्ड का ही इस्तेमाल करें। सावधान रहें और सेफ बनें।
cyber सायबर ठगी