विश्व पैरा एथलेटिक्स चैम्पियनशिप : भारत की दीप्ति जीवनजी ने लहराया तिरंगा , देश को दिलाया पहला ट्रैक गोल्ड मेडल

विश्व पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप में भारत की दीप्ति ने पेरिस का रिकॉर्ड तोड़ते हुए इतिहास रचा हैं। दीप्ति जीवनजी ने जापान के कोबे में 20 मई को महिलाओं की 400 मीटर T20 रेस में 55.07 सेकंड के विश्व रिकॉर्ड के साथ स्वर्ण पदक जीता।

author-image
Vikram Jain
New Update
Para Athletics Championship Deepti Jeevanji wins gold medal sports news
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

NEW DELHI. भारत की दीप्ति जीवनजी ने जापान में इतिहास रचा हैं। दीप्ति जीवनजी ने जापान के कोबे में 20 मई को विश्व पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप में टी-20 के 400 मीटर दौड़ में वर्ल्ड रिकॉर्ड के साथ गोल्ड मेडल जीता है। उन्होंने 55.07 सेकेंड में 400 मीटर की दौड़ पूरी की। साथ ही दीप्ति जीवनजी ने पेरिस में ओलंपिक के बाद होने वाले पैरालंपिक खेलों के लिए टिकट कटा लिया है। पैरा विश्व चैंपियनशिप की ट्रैक स्पर्धा में भारत के किसी एथलीट ने पहली बार गोल्ड मेडल जीता है। दीप्ति जीवनजी तेलंगाना की एक भारतीय पैरा-एथलीट हैं।

दीप्ति ने एशियाई रिकॉर्ड भी बनाया

दीप्ति जीवनजी ने रविवार 19 मई को 56.18 सेकेंड (हीट रेस) के समय के साथ नया एशियाई रिकॉर्ड बनाते हुए फाइनल के लिए क्वालिफाई किया और पेरिस 2024 पैरालंपिक कोटा हासिल किया। टी20 वर्ग की रेस बौद्धिक रूप से अक्षम खिलाड़ियों के लिए है। टी-20 की कैटेगिरी में उन एथलीटों को शामिल किया जाता है, जो दिमागी रूप से कमजोर होते हैं।

दीप्ति जीवनजी ने अमेरिकी एथलीट ब्रेना क्लार्क का रिकॉर्ड को तोड़ा। ब्रियाना क्लार्क ने पिछले साल पेरिस में हुई वर्ल्ड पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप में 55.12 सेकंड का समय निकाला था। इस स्पर्धा में तुर्की की एसिल ओंडेर 55.19 सेकंड के साथ दूसरे स्थान पर रहीं, जबकि एक्वाडोर की लिजांशेला एंगुलो 56.68 सेकंड के समय के साथ तीसरे स्थान पर रहीं थी।

एशियन पैरा गेम्स में शानदार प्रदर्शन, जीता था गोल्ड मेडल

बता दें कि दीप्ति जीवनजी ने एशियन पैरा गेम्स 2023 में महिलाओं की 400 मीटर T20 स्पर्धा शानदार प्रदर्शन किया था। और गोल्ड मेडल जीता था। तब उन्होंने थाइलैंड की ओरावन कैसिंग को पछाड़कर शीर्ष पोडियम स्थान हासिल किया था। ओरावन कैसिंग ने 59.00 सेकेंड का अपना व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ समय निकाला था, फिर भी उन्हें रजत पदक से संतोष करना पड़ा था।

ये खबर भी पढ़ें... कोर्ट की अनोखी सजा, आरोपी से कहा- एक्सीडेंट पर लिखो निबंध

ये खबर भी पढ़ें...ODA ओल्ड डेलियंस एसोसिएशन और DALY COLLEGE के बीच चुनाव पर गहराया विवाद

योगेश कथुनिया को रजत पदक

इधर, योगेश कथुनिया ने पुरुषों के F 56 वर्ग चक्का फेंक में 41.80 मीटर के साथ रजत पदक जीता। F56 श्रेणी उन एथलीट्स के लिए है जो मैदानी स्पर्धाओं में बैठकर प्रतिस्पर्धा करते हैं। इस वर्ग में विभिन्न एथलीट प्रतिस्पर्धा करते हैं, जिनमें अंग-विच्छेदन और रीढ़ की हड्डी की चोट वाले लोग भी शामिल हैं।

ये खबर भी पढ़ें.. इंदौर नगर निगम ने 531 कॉलोनियों में संपत्तिकर बढ़ाया, वसूली बढ़ रही, घोटाले रुक नहीं रहे

अब तक भारत ने जीते 4 पदक

इससे पहले पैरा एथलेटिक्स विश्व चैंपियनशिप 2024 में भारत की प्रीति पाल ने महिलाओं की 200 मीटर T35 श्रेणी में कांस्य पदक जीता। भारत ने विश्व पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप 2024 में अब तक एक स्वर्ण, एक रजत और दो कांस्य पदक जीते हैं।

विश्व पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप के पिछले संस्करण में भारत ने तीन स्वर्ण, चार रजत और तीन कांस्य समेत रिकॉर्ड 10 पदक जीते थे। विश्व पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप 25 मई 2024 तक चलेगी।

बता दें कि दीप्ति जीवनजी तेलंगाना की एक भारतीय पैरा-एथलीट हैं। वह महिलाओं की 400 मीटर टी20 दौड़ में हिस्सा लेती हैं। उन्हें 2022 हांग्जो एशियाई पैरा खेलों में भाग लेने वाली भारतीय टीम के लिए चुना गया था। उन्होंने 24 अक्टूबर 2023 को नए एशियाई पैरा रिकॉर्ड और गेम्स रिकॉर्ड के साथ स्वर्ण पदक जीता था। 

ये खबर भी पढ़ें.. दैनिक भास्कर ने पंजाब ज्वेलर्स पर छापे की खबर क्यों नहीं छापी ?

विश्व पैरा एथलेटिक्स चैम्पियनशिप, दीप्ति जीवनजी, दीप्ति जीवनजी ने जीता गोल्ड

खेल समाचार, World Para Athletics Championship, Deepti Jeevanji, Deepti Jeevanji won gold, sports news

Sports News खेल समाचार विश्व पैरा एथलेटिक्स चैम्पियनशिप दीप्ति जीवनजी दीप्ति जीवनजी ने जीता गोल्ड World Para Athletics Championship Deepti Jeevanji Deepti Jeevanji won gold