मंत्री पद की शपथ लेने के बाद इस सांसद ने कैबिनेट मंत्री बनने से किया इंकार

मोदी सरकार 3.0 में मंत्रालय के बंटवारे से पहले ही बीजेपी के एक सांसद ने कैबिनेट में शामिल होने से मना कर दिया है। सांसद ने कैबिनेट में शामिल नहीं होने की बात ने बीजेपी खेमे में हलचल तेज कर दी है..

author-image
Deeksha Nandini Mehra
एडिट
New Update
suresh gopi statement

Suresh Gopi

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

Suresh Gopi Statement :  मोदी सरकार 3.0 में मंत्रालय बंटवारे से पहले ही बीजेपी के एक सांसद ने कैबिनेट में शामिल होने से मना कर दिया है। मंत्री पद की शपथ लेने के बाद केरल के त्रिशूर लोकसभा सीट से बीजेपी सांसद सुरेश गोपी मोदी सरकार में मंत्री पद छोड़ना चाहते हैं। सूत्रों के अनुसार वह ( सुरेश गोपी ) अपना इस्तीफा देना चाहते हैं। उन्होंने केंद्रीय नेतृत्व के सामने अपनी मंशा जाहिर कर दी है। सुरेश गोपी ने रविवार को राज्य मंत्री के तौर पर शपथ ली थी। 

शपथ लेने के बाद दिया ये बयान 

शपथ ग्रहण समारोह के बाद  BJP सांसद सुरेश गोपी ने टीवी चैनल इंटरव्यू के दौरान कहा, मैं एक सांसद के रूप में काम करना चाहता हूं। मैं कैबिनेट का हिस्सा बनना नहीं चाहता था। मैंने (पार्टी को) बता दिया था कि मुझे इसमें कोई दिलचस्पी नहीं है। लगता है कि मैं जल्द ही मुक्त हो जाऊंगा। 

अपने (सुरेश गोपी ) मंत्री पद छोड़ने की वजह बताते हुए उन्होंने कहा कि मैंने फिल्में साइन की हैं और उन्हें उन्हें करना है। लोकसभा चुनाव जीतने के बाद सुरेश गोपी ने कहा था कि वे फिल्म इंडस्ट्री नहीं छोड़ेंगे क्योंकि एक्टिंग उनका जुनून है। 

उनके पास पहले से ही कुछ फिल्म प्रोजेक्ट पाइपलाइन में हैं। सुरेश गोपी केरल से भाजपा के पहले सांसद हैं। उन्होंने त्रिशुर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा था और सीपीआई के सुनील कुमार को करीब 75 हजार वोटों से हराया है।

ये खबर पढ़िए ...शाह, नड्डा, शिवराज बने केंद्र में मंत्री, BJP को नए अध्यक्ष की तलाश, इन दो नामों पर चल रहा विचार मंथन

केरल से दो नेताओं को मोदी कैबिनेट में जगह मिली

लोकसभा चुनाव 2024 के प्रचार के दौरान अभिनेता से नेता बने सुरेश गोपी का मुख्य चुनावी मुद्दा था कि त्रिशूर के लिए एक केंद्रीय मंत्री, मोदी की गारंटी। गोपी केरल से भाजपा के दो उम्मीदवारों में से एक थे। दूसरे नेता जॉर्ज कुरियन हैं, जिन्हें भी राज्य मंत्री के रूप में केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है।

ये खबर पढ़िए ...पीएम मोदी के तीसरे कार्यकाल की पहली कैबिनेट बैठक आज, बैठक में हो सकते हैं बड़े फैसले

सुरेश गोपी ने 250 से ज्यादा फिल्मों में किया काम 

सुरेश गोपी ने 1965 में बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट करियर की शुरुआत की थी। सुरेश गोपी ने तमिल, तेलुगु, कन्नड़ और हिंदी की लगभग 250 फिल्मों में काम किया है। 1992 से 1995 तक उन्हें सुपरस्टार का टैग मिला था।

1998 में उन्हें नेशनल फिल्म अवॉर्ड और केरल राज्य अवॉर्ड मिला था। वे बीजेपी के राज्यसभा सांसद भी रह चुके हैं। लोकसभा के लिए चुने जाने से पहले गोपी को 2016 में राज्यसभा के लिए मनोनीत किया गया था। उच्च सदन में उनका कार्यकाल 2022 तक रहा।

किसे मिलेगी कौनसी जिम्मेदारी 

राजनीतिक सूत्रों के अनुसार गृह मंत्रालय की जिम्मेदारी राजनाथ सिंह या शिवराज सिंह को दी जा सकती है। वहीं अमित शाह को वित्त मंत्री की जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है।   पूर्व वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन को रक्षा और पीयूष गोयल को पेट्रोलियम मंत्रालय मिल 

सकता है। रेल मंत्रालय टीडीपी या जेडीयू को मिलने की उम्मीद जताई जा रही है। वहीं जेपी नड्डा को चिकित्सा या मानव संसाधन मंत्रालय दिए जाने की चर्चा है। 

बिड़ला फिर से बनेंगे लोकसभा अध्यक्ष

ओम बिड़ला को मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिली है, इसलिए उम्मीद है कि वे लोकसभा अध्यक्ष की कुर्सी संभाल सकते है। कयास यह भी है कि ओम बिड़ला को राजस्थान के मुख्यमंत्री और बीजेपी पार्टी का अध्यक्ष बनाया जा सकता है।

thesootr links

 सबसे पहले और सबसे बेहतर खबरें पाने के लिए thesootr के व्हाट्सएप चैनल को Follow करना न भूलें। join करने के लिए इसी लाइन पर क्लिक करें

द सूत्र की खबरें आपको कैसी लगती हैं? Google my Business पर हमें कमेंट के साथ रिव्यू दें। कमेंट करने के लिए इसी लिंक पर क्लिक करें

सुरेश गोपी का कैबिनेट में शामिल होने से इंकार 

मोदी कैबिनेट सुरेश गोपी Suresh Gopi BJP सांसद सुरेश गोपी त्रिशूर लोकसभा सीट सुरेश गोपी का कैबिनेट में शामिल होने से इंकार