Advertisment

शराबी ने कुत्ते को पत्थर से कुचलकर मारा डाला, आरोपी के खिलाफ केस दर्ज

बता दें कि आरोपी के खिलाफ धारा 429 के तहत अपराध दर्ज किया गया है। फिलहाल पुलिस मामले के जांच में जुटी हुई है। ओवर ब्रिज से गुजर रहे कुछ युवकों ने इसका वीडियो बना लिया।

author-image
Pooja Kumari
New Update
Raipur
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

RAIPUR. छत्तीसगढ़ के रायपुर में तेलघानी नाका ओवर ब्रिज पर एक शराबी ने कुत्ते को पत्थर से कुचलकर मार डाला। बीते रविवार यानि 11 फरवरी को इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। इसके बाद एक पशु प्रेमी ने इस मामले में गंज थाना प्रभारी से शिकायत भी की है। इसके बाद कुत्ते के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया। 

Advertisment

यह खबर भी पढ़ें - आयुष्मान और डॉ. खूबचंद बघेल योजना, अस्पतालों के करोड़ों रुपए फंसे

आरोपी के खिलाफ धारा 429 के तहत अपराध दर्ज

बता दें कि आरोपी के खिलाफ धारा 429 के तहत अपराध दर्ज किया गया है। फिलहाल पुलिस मामले के जांच में जुटी हुई है। ओवर ब्रिज से गुजर रहे कुछ युवकों ने इसका वीडियो बना लिया। इस वीडियो में शराबी एक बड़े पत्थर से कुत्ते पर लगातार सिर पर वार कर रहा था। युवक ने वीडियो बनाते हुए शराबी को फटकार भी लगाई। हालांकि उस युवक के मौके पर पहुंचने से पहले कुत्ते की मौत हो चुकी थी। वहीं घटना के बाद एनिमल रेस्क्यू कार्य करने वाली वांचना लाबान ने पुलिस शिकायत की। इसके बाद मृत कुत्ते के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए पशु चिकित्सालय भेजा गया था। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी।

Advertisment

यह खबर भी पढ़ें - कौन हैं राजा देवेन्द्र प्रताप सिंह, जिन्हें राज्यसभा भेज रही बीजेपी

पिपल्स फॉर एनिमल्स NGO के मेंबर ने की सख्त कार्रवाई की मांग

जानकारी के मुताबिक 15 दिन पहले राजधानी रायपुर के डिग्री गर्ल्स कॉलेज के प्रिंसिपल पर डॉग के बच्चों को फेंकवाने का आरोप लगा था। इसके बाद पीपल फॉर एनिमल के मेंबर ने इसकी शिकायत भी की दर्ज कराई थी। उनका कहना है कि बच्चों को उनकी मां से दूर करने पर चार में से 2 बच्चों की मौत हो गई है। इस पर उन्होंने प्रशासन से सख्त सजा देने की मांग की है। इस मामले में पिपल्स फॉर एनिमल्स NGO से जुड़ी किरण आहूजा ने कोतवाली थाने में FIR भी दर्ज कराई है।

यह खघबर भी पढ़ें - सरगुजा में 2 साल में 550 लोगों ने की खुदकुशी, सामने आई ये बड़ी वजह

यह खबर भी पढ़ें - आजादी के बाद पहली बार इस विश्वविद्यालय में होगी कॉमर्स की पढ़ाई

छत्तीसगढ़
Advertisment
Advertisment