गोली मारने वाला अभिषेक स्नेहा से मंदिर में कर चुका था शादी, बाद में दोनों के बीच आया तीसरा

पहले इसे एकतरफा प्यार माना जा रहा था, लेकिन 'द सूत्र' को मिले अभिषेक द्वारा कुछ मित्रों को किए लंबे-चौड़े मैसेज से पर्दे के पीछे की कहानी सामने आई है। अभिषेक ने कुछ करीबी लोगों को भेजे मैसेज में क्या लिखा है, आइए सिलसिलेवार आपको बताते हैं...

author-image
Jitendra Shrivastava
New Update
THESOOTR

अभिषेक यादव द्वारा किए गए तीन फायर और तीन मौत की कहानी।

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

संजय गुप्ता, INDORE. अभिषेक स्नेहा से मंदिर में कर चुका था शादी... इंदौर में गुरुवार, 4 मार्च की सुबह युवक अभिषेक यादव द्वारा किए गए तीन फायर और तीन मौत की कहानी सामने आने लगी है। पहले इसे एकतरफा प्यार माना जा रहा था, लेकिन 'द सूत्र' को मिले अभिषेक द्वारा कुछ मित्रों को किए गए एक लंबे-चौड़े मैसेज से पर्दे के पीछे की कहानी सामने आई है। अभिषेक ने सुसाइड करने से पहले यह मैसेज कुछ करीबी लोगों को भेजा था। मैसेज में चौंकाने वाली बात है कि अभिषेक, युवती स्नेहा से मंदिर में शादी कर चुका था और दोनों ही लंबे समय तक हसबैंड-वाइफ की तरह ही एक-दूसरे को मानते रहे, बाद में इनके बीच कोई तीसरा आ गया और मामला बिगड़ गया। 

यह लिखा है अभिषेक के मैसेज में- लॉकडाउन में शुरू हुआ था प्रेम...

मैं आप सब को स्नेहा और मेरे बारे में बताने जा रहा हूं तो आप मैसेज को ध्यान से पढ़ना मैं जो भी बोलूंगा आपको उसका स्क्रीनशॉट का प्रूफ भी दूंगा। स्नेहा और मैं दिसंबर 2019  में रिलेशनशिप में आए जब रिलेशन में आए तो मैंने स्नेहा को मना किया था, कि मैं शादी नही करूंगा ऐसे ही रिलेशनशिप में रहना है तो रह सकते हैं, वरना कोई बात नहीं। उसने कहा नहीं अगर शादी करो तो ही रिलेशनशिप में रहूंगी वरना नहीं रहूंगी मैं, फिर उसके बाद हमारी कुछ दिनों तक बाते बंद रही। कुछ दिनों बाद स्नेहा ने कहा ठीक है शादी नहीं करेंगे अपन रिलेशनशिप को आगे बढ़ाते है मैंने कहा ठीक है। उस टाइम हमारी ज्यादा बात नहीं हुआ करती थी उसके बाद लॉकडाउन लग गया और हमारी बातें ज्यादा से ज्यादा होने लगी दिन भर एक दूसरे से बात किया करते थे जिससे हमारे बीच प्यार बढ़ गया और एक दूसरे से ज्यादा अटेचमेंट हो गया। 

ये खबर भी पढ़ें...

एकतरफा प्रेम में युवक ने युवती और उसके भाई को गोली मारी, फिर कॉलेज में जाकर खुद को भी, तीनों की मौत

68 रुपए वाली आरएफ किट 4 हजार में बेचने वाली फर्म पर पड़ा EOW का छापा

रविवार से शुरू हो रहा पीएम नरेंद्र मोदी का एमपी दौरा, राहुल 8 को आएंगे

Byju's के रविंद्रन की नेटवर्थ जीरो, 2023 में 17 हजार करोड़ के थे मालिक

लॉकडाउन के बाद मिलना शुरू किया

…उसके बाद लॉकडाउन खुला और हमारा मिलना जुलना स्टार्ट हो गया। स्टार्टिंग में हम लोग रीजनल पार्क या कैफे में मिला करते थे स्नेहा मेरे लिए हमेशा कुछ न कुछ गिफ्ट लेकर आया करती थी और मुझसे कुछ भी गिफ्ट नहीं लेती थी, कहती थी मैं घर नहीं ले जा सकती हूं। मिलना-जुलना चलता रहा हमारा, तो हमारे बीच नजदीकियां बढ़ने लगी तो हम दोनों ने डिसाइड किया की होटल या रूम में मिलते हैं। मैंने भोलाराम मार्ग पर एक होटल में रूम बुक किया और हम वहां पर मिलते रहे।

फिर शादी का दबाव आया, मंदिर में की शादी

...इसके बाद स्नेहा मुझ पर शादी करने का दबाव बनाने लगी, कहने लगी अब मेरे साथ सब कुछ कर लिया तो मुझसे शादी करनी पड़ेगी, नहीं करी तो मैं मर जाऊंगी ऐसा कर लूंगी वैसा कर लूंगी। मैंने कहा कि अपनी कास्ट अलग है शादी नहीं हो पाएगी और घर वाले नहीं मानेंगे, पर स्नेहा जिद पर अड़ गई और कहने लगी ऐसे तो आप मुझे छोड़ दोगे कभी भी। चलो मंदिर में नहीं तो आप मेरा मरा हुआ मुंह देखोगे। मैं उस टाइम डर गया और मंदिर में जाकर हम दोनों ने शादी कर ली। शादी करने के बाद वो मुझे हसबैंड की तरह बात करने लगी, मुझे प्यार से हबी बोलने लगी सुबह उठते से ही मुझे टेक्स्ट मैसेज करने लगी गुड मॉर्निंग हबी। वो मुझे अपना हसबैंड मानने लगी और हसबैंड की तरह मेरी केयर करनी लगी, उसके केयर करने से मेरे अंदर भी उसके लिए फीलिंग्स आने लगी। उसके बाद हम दोनों महीने में 5 से 6 बार होटल में मिलने लगे और बाकी के टाइम हम इंदौर के आस पास घूमा करते थे। 

देवास मंदिर में भी की शादी

...एक दिन हम लोग देवास दर्शन करने गए तो वहां पर स्नेहा कहने लगी कि माताजी के सामने मेरी मांग में सिन्दूर भरो। मैंने कहा एक बार मंदिर में शादी कर ली फिर अब क्यों, तो कहने लगी यहां की बात अलग है। मांग में सिन्दूर भरो वरना में कुछ कर लूंगी तो फिर मैंने माताजी के सामने उसकी मांग में सिंदूर भर दिया ऐसे करके हमारी 2 बार शादी हो गई। हमारा रिलेशन बहुत मजबूत हो गया और हम दोनों बहुत हंसी-खुशी से एक दूसरे के साथ रहने लगे। 

फिर कहा कोर्ट मैरिज करते हैं

...इसके बाद स्नेहा कहने लगी की कोर्ट मैरिज कर लेते हैं मैंने मना किया तो कहने लगी कर लेते हैं अपन कोर्ट मैरिज। कभी घर वाले नहीं माने तो आप बता देंगे की हमने कोर्ट मैरिज कर ली है और कभी मान गए तो नहीं बताएंगे, पर मैं उसको जैसे-तैसे समझाया। हम दोनों की बॉन्डिंग बहुत ज्यादा अच्छी हो गई हम डेली मिला करते थे। स्नेहा मेरी ज्यादा केयर करती थी, हसबैंड के जैसे ट्रीट करती थी। मैं भी उसको अपनी वाइफ मानने लगा और सपने देखने लगा की स्नेहा सही बोल रही अपन ऐसा ही करेंगे। फिर वो कहने लगी कभी तुमने अब मुझे छोड़ दिया तो मैं उसी दिन मर जाऊंगी, मैंने कहा में तो नहीं छोडूंगा तेरा पता नहीं। स्नेहा हमेशा उसके घर के बारे में बात किया करती थी सब कुछ बताया करती थी। उसके घर के बारे में हर एक बात शेयर करती थी। उसके पापा के बारे में उसकी मम्मी के बारे में उसकी दीदी के बारे में सब कुछ बताया था उसने मुझे। 

फिर हम दोनों के बीच तीसरा आ जाता है

...हमारा रिलेशन बहुत अच्छा चल रहा था सब कुछ ठीक था। हंसी खुशी दोनों बहुत ज्यादा अच्छे से रहते थे, बहुत घूमते थे। हम लोग 12 से 13 बार उज्जैन घूमकर 7 से 8 बार देवास-महेश्वर और आसपास के सारे वाटरफॉल। इंदौर की ऐसी कोई जगह नहीं जहां पर हम दोनों गए न हों। फिर हम दोनों के बीच कोई तीसरा इंसान आ जाता है।

-अभिषेक यादव

क्या हुआ आज

अभिषेक ने स्वामी नारायण मंदिर कैंपस में स्नेहा और उसके भाई दीपक जाट से काफी देर बात की और फिर इस दौरान साथ लाई अवैध पिस्टल से दीपक और स्नेहा दोनों को गोली मार दी। बाद में वह भागकर अरिहंत कॉलेज कैंपस में घुसा और फिर वहां खुद को गोली मार ली। तीनों की मौत हो गई।

अभिषेक स्नेहा से मंदिर में कर चुका था शादी