एमपी में बदला मौसम, BHOPAL में तेज बारिश,सिंधिया का नहीं उतर सका प्लेन

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में झमाझम बारिश देखने को मिली । इससे पहले प्रदेश के कई जिलों में तेज भरी आंधी और बारिश हुई थी, साथ ही ओले गिरने से फसलों को भारी नुकसान हुआ है।

author-image
Sandeep Kumar
New Update
PIC

एमपी में बारिश

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

BHOPAL. मध्यप्रदेश में बदले मौसम के मिजाज से राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के कई जिलों में झमाझम बारिश देखने को मिली है। दरअसल  सोमवार को जबलपुर, नर्मदापुरम, खंडवा, सिवनी, मंडला और अनूपपुर में ओले गिरे हैं। मौसम विभाग ने कई जिलों के लिए आज भी अलर्ट जारी किया था। जिसके बाद  मंगलवार दोपहर साढ़े 3 के बाद अचानक मौसम ने अपने तेवर बदला और तेज आंधी के साथ बारिश शुरू हो गई। लालघाटी, कोलार इलाके में छोटे आकार के ओले भी गिरे हैं। तेज आंधी की वजह से कई इलाकों में बिजली गुल हो गई। वहीं, टीन शेड भी उखड़ गए। कई इलाकों में पेड़ भी गिर गए हैं। बीजेपी ऑफिस के बाहर लगे फ्लैक्स-बैनर भी उड़ गए।

ये खबर भी पढ़िए..MP के सूचना आयुक्त ने MPPSC को लिया आड़े हाथ,लगाया 25 हजार का जुर्माना

ये खबर भी पढ़िए...यशवंत क्लब में नए सिरे से ही करना होगी सदस्यता की प्रक्रिया

तेज रफ्तार से चली धूल भरी आंधी 

मंगलवार को सुबह तक मौसम साफ था, लेकिन दोपहर 3 बजे मौसम बदल गया। इसके बाद 40 से 50 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से आंधी चलने लगी। इस कारण कई इलाकों में बिजली गुल हो गई। वहीं, लालघाटी इलाके में कुछ पेड़ गिरने की खबरें भी हैं। आंधी से शहरी इलाके में धूल ही धूल हो गई। परवलिया में भी आंधी से कई घरों की छतों की चद्दरें उड़ गईं। बैरसिया रोड पर आंधी से फसलें आड़ी हो गई। कोलार रोड इलाके में भी धूलभरी हवाएं और हल्की बारिश हुई।

ये खबर भी पढ़िए...भूमाफिया चंपू, कैलाश गर्ग की सेटेलाइट की जमीन सहित अन्य प्रॉपर्टी डेब्ट्स रिकवरी जबलपुर ने की कुर्क

ये खबर भी पढ़िए..शिवाजी पार्क में महिलाओं ने बेटियों के गुम होने पर दूसरे समाज के लड़कों पर लगाया आरोप

बेमौसम बारिश से बढ़ी किसानों की परेशानी

मंगलवार को बेमौसम बारिश होने किसानों की परेशानी बढ़ गई है, क्योकि जहां एक ओर ये बारिश गेहूं की फसल की फायदा देगी, वहीं सरसौ की फसल को नुकसान  भी पहुंचा सकती है। सबसे अधिक फसलों को नुकसान ओले गिरने से होगा। बता दें कि सोमवार को बैतूल, छिंदवाड़ा जिले में तेज आंधी के साथ ओले गिरे हैं। वहीं छिंदवाड़ा में करीब 65 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चली। इधर, बैतूल में बिजली गिरने से एक साथ 15 बकरियों की मौत हो गई। वहीं, फसलों को भी काफी नुकसान हुआ है।

बिना बैठक में शामिल हुए वापस लौटे सिंधिया

बीजेपी कोर कमेटी की बैठक में शामिल होने के लिए केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया दिल्ली से भोपाल आ रहे थे। उनका विमान भोपाल पहुंच गया था लेकिन खराब मौसम के चलते उनके भोपाल में उतरने की परमिशन नहीं दी गई। सिंधिया के करीबियों ने बताया कि 10 मिनट तक हवा में रहने के बाद जब विमान को उतरने की अनुमति नहीं मिली तो वे वापस दिल्ली लौट गए।

मध्यप्रदेश मौसम बारिश