इंदौर में कांग्रेस प्रत्याशी अक्षय कांति बम का पहला प्रदर्शन, निगम की रिमूवल कार्रवाई का किया विरोध, पुलिस ने समझाइश देकर छोड़ा

इंदौर लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी अक्षय कांति बम ने नगर निगम की कार्रवाई का विरोध किया। मामला एमओजी लाइन में नगर निगम की रिमूवल कार्रवाई का था, जहां पर कार्रवाई का विरोध करने कांग्रेस प्रत्याशी पहुंचे थे.... आइए जानते हैं क्या है पूरा मामला

author-image
Sandeep Kumar
एडिट
New Update
उउु

कांग्रेस प्रत्याशी अक्षय कांति बम

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

संजय गुप्ता @ INDORE.  इंदौर लोकसभा सीट (  Lok sabha seat ) से कांग्रेस प्रत्याशी अक्षय कांति बम (Akshay Kanti Bom ) का पहला मैदान प्रदर्शन सोमवार को हुआ। मामला एमओजी लाइन में नगर निगम की रिमूवल कार्रवाई का था, जो स्मार्ट सिटी का प्रोजेक्ट है। कार्रवाई का पहले रहवासियों ने विरोध किया। इसके बाद कांग्रेस प्रत्याशी अपने समर्थकों के साथ रहवासियों का समर्थन करने पहुंच गए । हालांकि विरोध करने वाले रहवासियों को छत्रीपुरा पुलिस थाना लाया गया, जहां पर इन नागरिकों के साथ अक्षय बम भी पहुंच गए ।   बताया गया कि अक्षय बम व अन्य पर पुलिस ने केस दर्ज नहीं किया है समझाइश देकर छोड़ दिया गया है ।  



ये खबर भी पढ़िए...रोज तेरे जैसे छर्रे, भार्गव जैसे मंत्रियों से फोन कराते हैं, मरीज के परिजनों से डॉक्टर की बदजुबानी का वीडियो वायरल

पूर्व सैनिकों के 110 परिवार हो रहे प्रभावित

एमओजी लाइन का प्रोजेक्ट स्मार्ट सिटी में हैं, जहां रिडेंसीफिकेशन के तहत पुराने निर्माण हटाकर नए बनाए जाएंगे। यहां प्लाट काटकर टेंडर कर बेचे जा रहे हैं। इसी के तहत नगर निगम की टीम यहां पहुंची थी। लेकिन भूतपूर्व सैनिकों के परिवार ने इसका विरोध कर दिया। यहां 110 परिवार इससे प्रभावित हो रहे हैं। मामले की खबर लगने पर बम भी पहुंच गए। 

ये खबर भी पढ़िए...क्या कहना चाहता है दैनिक भास्कर का ये कार्टून !

बम का आरोप पुलिस ने रहवासियों पर किया लाठीचार्ज

विरोध प्रदर्शन के दौरान बम जेसीबी पर भी चढ़ गए। विरोध के दौरान रिमूवल कार्रवाई रोक दी गई। बम ने कहा देश की रक्षा करने वाले पूर्व सैनिकों के साथ प्रशासन के द्वारा इस तरह का व्यवहार किया जाना निंदनीय है । इन नागरिकों पर लाठीचार्ज मनमानी का प्रतीक है। निगम की कार्रवाई का विरोध करते हुए कहा कि निगम के द्वारा इन नागरिकों को शनिवार के दिन नोटिस दिया गया । ताकि यह न्यायालय में जाकर न्याय की गुहार नहीं लगा सके । आज सोमवार को सुबह से नगर निगम की रिमूवल गैंग प्रशासन के अधिकारियों और पुलिस कर्मियों के साथ इन लोगों के मकान को तोड़ने के लिए पहुंच गई । 

ये खबर भी पढ़िए...साल का पहला सूर्य ग्रहण आज, क्या भारत में इसका सूतक काल लगेगा !

रहवासियों को थाने ले गए

आरोप है कि जब विरोध के स्वर तेज होने लगे तो पुलिस ने लाठी चार्ज करते हुए रहवासियों को कस्टडी में ले लिया । इन्हें छत्रीपुरा थाना ले जाया गया । इन नागरिकों के साथ  अक्षय बम भी आने पर पहुंचे। बताया गया कि अक्षय बम व अन्य पर पुलिस ने केस दर्ज नहीं किया है, बडे़ स्तर पर बात होने के बाद समझाइश देकर छोड़ दिया गया है । आपको बताते चले कि प्रदर्शन में मुकेश यादव, देवेंद्र सिंह यादव और कांग्रेस के अन्य प्रमुख नेता भी मौजूद थे।

ये खबर भी पढ़िए...भोपाल में IPL क्रिकेट मैच पर लगा रहे थे ऑनलाइन सट्टा, 10 गिरफ्तार

इंदौर लोकसभा सीट Lok sabha seat कांग्रेस प्रत्याशी अक्षय कांति बम एमओजी लाइन