कमलनाथ एपीसोड से अटकी जीतू की कार्यसमिति,अब एडजस्टमेंट में आ रहा पसीना

जीतू पटवारी की टीम जंबो रहने वाली है। कमलनाथ एपीसोड के बाद इतना जरूर माना जा रहा है कि उनका दखल इस कार्यसमिति में कम होगा। जीतू पटवारी को दिग्विजय सिंह, अरुण यादव, अजय सिंह, कांतिलाल भूरिया, सुरेश पचौरी और कमलनाथ को साधना है। मध्यप्रदेश

author-image
Jitendra Shrivastava
New Update
jitu patwari

कमलनाथ एपीसोड के कारण अटकी जीतू की कार्यसमिति।

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

अरुण तिवारी, BHHOPAL. जीतू पटवारी को प्रदेश कांग्रेस की कमान संभाले दो महीने से ज्यादा वक्त हो गया है, लेकिन उनकी टीम तैयार नहीं हो पाई है। लोकसभा चुनाव के ऐन पहले भी कप्तान बिना टीम के खेल रहे हैं। पटवारी की कार्यसमिति बनने से पहले कमलनाथ एपीसोड हो गया जिससे उनकी सूची अटक गई। ऐसा माना जा रहा है कि पटवारी को भी जंबो कार्यसमिति से काम करना पड़ेगा। सारे गुट को साधने में पटवारी को पसीना आ रहा है। डर ये भी है कि यदि कुछ ऊंच नीच हो गई तो नाराज नेता लोकसभा चुनाव में खेला कर देंगे। जीतू पटवारी की कार्यसमिति अब अंतिम रूप ले रही है, उम्मीद है जल्द ही घोषित होगी। इतना तय है कि पटवारी की इस टीम में दिग्विजय की ज्यादा और कमलनाथ की कम चलने वाली है। 

जीतू को कार्यसमिति में बनानी होगी जंबो टीम 

कमलनाथ एपीसोड के कारण अटकी प्रदेश अध्यक्ष जीतू पटवारी की टीम अब अंतिम शक्ल ले रही है। लोकसभा चुनाव के पहले बनने वाली इस कांग्रेस कार्यसमिति में सारे गुटों को एडजस्ट करने की चुनौती है। यही कारण है कि ये अनुमान लगाया जा रहा है कि जीतू की टीम जंबो रहने वाली है। कमलनाथ एपीसोड के बाद इतना जरुर माना जा रहा है कि उनका दखल इस कार्यसमिति में कम होगा। जीतू पटवारी को दिग्विजय सिंह, अरुण यादव, अजय सिंह, कांतिलाल भूरिया, सुरेश पचौरी और कमलनाथ को साधना है। इसके अलावा उनको अपने समर्थकों को भी जगह देना है।

ये खबर भी पढ़ें...

MP के 50% नर्सिंग कॉलेज CBI जांच में अनफिट, सरकार ने बदले नियम

'ऐश्वर्या राय का डांस दिखाना है' राहुल गांधी के बयान पर भड़के फैंस

कांग्रेस के रडार पर दीपक-सज्जन समेत कई नेता, बयानबाजी पर पार्टी सख्त

सीएम का OSD बताकर 20 लाख रु. ठगने वाले गिरफ्तार,जानें कैसे दिया अंजाम

जातिगत समीकरण भी साधने होंगे

जीतू की इस टीम में उनको मौका मिलेगा जो पहले विधायक थे लेकिन इस चुनाव में हार का सामना करना पड़ा है। खासतौर पर उन लोगों को शामिल किया जाएगा जिन्होंने कमलनाथ समर्थक होने के बाद भी इस पूरे घटनाक्रम पर चुप्पी साधे रखी है। जीतू की कार्यसमिति में क्षेत्रीय संतुलन के साथ जातिगत समीकरण भी साधने होंगे। इसके अलावा युवा और अनुभवी दोनों का खयाल रखना होगा। 

जीतू की टीम में इनको मिल सकता है मौका... 

  1. तरुण भनोट

  2. सुखदेव पांसे

  3. कुणाल चौधरी

  4. निलय डागा

  5. पीसी शर्मा 

  6. जेवियर मेड़ा

  7. सुरेंद्र चौधरी

  8. प्रवीण पाठक

  9. डॉ गोविंद सिंह

  10. केपी सिंह कक्काजू

  11. लक्ष्मण सिंह

  12. हर्ष यादव

  13. विक्रम सिंह नातीराजा

  14. हिना कांवरे

  15. कल्पना वर्मा 

  16. सुनीता पटेल

  17. प्रियव्रत सिंह

  18. विपिन वानखेड़े

  19. देवेंद्र पटेल

  20. रवि जोशी

नहीं हटेंगे फ्रंटल ऑर्गनाइजेशन के नेता

लोकसभा चुनाव तक कांग्रेस के फ्रंटल ऑर्गनाइजेशन के प्रमुखों को नहीं बदला जाएगा। महिला कांग्रेस की अध्यक्ष विभा पटेल और युवा कांग्रेस के अध्यक्ष विक्रांत भूरिया समेत अन्य विभाग और प्रकोष्ठों के अध्यक्ष भी यथावत रहेंगे।

कमलनाथ जीतू की कार्यसमिति