रामदेव बनना चाहती थीं मंदाकिनी, लेकिन रास्ता चुना कट, कॉपी पेस्ट वाला…

मंदाकिनी चाहती थी कि उसका भी पतंजलि की तरह अरबों का कारोबार हो। देश- दुनिया में उसकी धमक गूंजे। इसीलिए साध्वी ने बाबा रामदेव की तरह मध्य प्रदेश खुद की हर्बल कंपनी खड़ी करने की कोशिश की थी।

author-image
Aparajita Priyadarshini
New Update
baba ramdev
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

साध्वी 420…यानी पूर्व महामंडलेश्वर मंदाकिनी के सपने बाबा रामदेव ( baba ramdev ) बनने के थे। मंदाकिनी चाहती थी कि उसका भी पतंजलि की तरह अरबों का कारोबार हो। देश- दुनिया में उसकी धमक गूंजे। इसीलिए साध्वी ने बाबा रामदेव की तरह खुद की हर्बल कंपनी खड़ी करने की कोशिश की थी। उसने कुछ आयुर्वेदिक प्रोडक्ट भी बेचना शुरू किए थे, लेकिन साध्वी वहां भी ठगी से बाज नहीं आई। मंदाकिनी ने जिस व्यापारी से आयुर्वेदिक सामान खरीदा, उसी को दो लाख रुपए की चपत लगा दी।  

बढ़ रही हैं मुश्किलें

उज्जैन में श्री पंचायती निरंजनी अखाड़ा की पूर्व महामंडलेश्वर मंदाकिनी ( mahamandleshwar mandakini ) की मुश्किलें लगातार बढ़ती ही जा रही हैं। लगातार मिल रहीं शिकायतों के चलते और उन पर दो FIR दर्ज होने के बाद पुलिस का शिकंजा कसता जा रहा है। जांच के दौरान पुलिस ने यह भी खुलासा किया है कि वह योग गुरू बाबा रामदेव की तरह हर्बल कंपनी की मालकिन बनना चाहती थी। मंदाकिनी ने हर्बल जूस के साथ कई प्रोडक्ट बेचना भी शुरू कर दिया था।

जयपुर के बिजनेसमैन ने मंदाकिनी पर धोखाधड़ी का आरोप लगाया है। बिजनेसमैन ने बताया कि मंदाकिनी ने उसकी कंपनी से पहले हर्बल जूस खरीदा और उस पर आरोग्यम मंदाकिनी का लोगो लगाकर स्टॉक तैयार किया। जब एक्सपायरी डेट निकल गई तो सामान का दाम चुकाए बिना पूरा स्टॉक कंपनी को वापस भिजवा दिया गया। मंदाकिनी की धोखाधड़ी के चलते व्यापारी को 2 लाख रुपए का नुकसान उठाना पड़ा।

ये खबर भी पढ़िए...

ऐश्वर्या राय की इस फिल्म की अनसीन फोटोज करण ने कर दी शेयर

क्या है धोखाधड़ी का पूरा मामला 

जयपुर के बिजनेसमैन संदीप शर्मा जोठवाड़ा इंडस्ट्रीज इलाके में हर्बल मैन्युफैक्चरिंग का काम करते हैं। संदीप ने बताया कि जयपुर में ही एक साल पहले महामंडलेश्वर नर्मदाशंकर महाराज से मुलाकात के दौरान साध्वी मंदाकिनी मिली थीं। मैं उनसे प्रभावित हो गया। वे तीन बार जयपुर में आकर मेरे घर भी रहीं। इस दौरान मंदाकिनी मेरी फैक्ट्री भी देखने आईं। कहा, मैं गोमाता की सेवा करने के लिए हर्बल जूस बेचना चाहती हूं। कच्चा माल आपकी फैक्ट्री से लूंगी। मैंने हां कर दी। इसके बाद 2-2 लीटर जूस के 500 पैकेट उनके परिचित के पास हरिद्वार भिजवा दिए। पूरा माल करीब 2 लाख रुपए का था। संदीप ने बताया कि कुछ समय बाद जब पैसे मांगे तो उन्होंने कहा बाद में दूंगी। करीब एक साल बाद सभी जूस वापस कर दिए। खराब होने के कारण वह माल किसी काम का नहीं रहा। उसे फेंकना पड़ा।

ये भी पढ़िए...

MPPSC मेंस 2022 की 25 दिन से कॉपियां ही नहीं जंची, चुनाव के कारण शिक्षक नहीं आ रहे

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष रविंद्र पुरी ने लिया संज्ञान

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष रविंद्र पुरी ने कहा, जयपुर निवासी संदीप शर्मा ने शिकायत की है। इस पर हम संज्ञान ले रहे हैं। कुछ लोग और आ रहे हैं, जिनके साथ मंदाकिनी ने धोखाधड़ी की है। रोज कई लोग शिकायत करने पहुंच रहे हैं। कुछ तो ऐसी हैं कि हम आपको बता भी नहीं सकते। कई भुगतान मुझे करने पड़ रहे हैं, क्योंकि मैंने ही उन्हें महामंडलेश्वर बनाया था।

ये भी पढ़िए...

MP का स्पाइडरमैन जिससे आप दूर ही रहना चाहेंगे, फिल्मों का है शौकीन

कौन है मंदाकिनी पुरी

महिला संत मंदाकिनी पुरी श्री पंचायती निरंजनी अखाड़े की महामंडलेश्वर थीं। वे महामंडलेश्वर बनने वाली पहली महिला थीं। निरंजनी अखाड़े से जुड़ने और महामंडलेश्वर बनने के बाद महिला संत के रूप में वे बेहद प्रसिद्ध हो गई थीं।  

श्राप भी देती हैं धोखाधड़ी की आरोपी मंदाकिनी पुरी

मंदाकिनी पुरी शुरु से बेहद विवादित रहीं हैं। अब उनके कई कारनामे बाहर आ रहे हैं। पिछले साल मई माह में उन्होंने महाकाल मंदिर में हंगामा मचा दिया था। मंदाकिनी पुरी जब  महाकाल मंदिर जाती थीं तब मंदिर प्रशासन को हड़काते रहती थीं। एक जब उन्हें पूजा करने में कुछ विलंब हो गया तो वे ऐसी भड़कीं कि प्रशासन को श्राप दे डाला। इतना ही नहीं, उन्होंने महाकाल लोक निर्माण में भ्रष्टाचार के भी आरोप लगाए थे।

 

महिला जवान नहीं कर सकेंगी हेवी मेकअप, खुले बाल रखने पर भी BSF ने लगाई रोक

बाबा रामदेव mahamandleshwar mandakini Baba Ramdev कौन है मंदाकिनी पुरी मंदाकिनी पुरी साध्वी 420 महामंडलेश्वर मंदाकिनी