राष्ट्रपति की गरिमा का उड़ाया मजाक, कांग्रेस ने विश्वास सारंग पर लगाया आरोप

मध्‍य प्रदेश नर्सिंग घोटाला मामले में नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार ने विश्वास सारंग पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से बिना मान्यता वाले कॉलेज का शिलान्यास करवाने का आरोप लगाया...

Advertisment
author-image
Shreya Nakade
New Update
नर्सिंग घोटाला11
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

मध्य प्रदेश विधानसभा के मानसून सत्र ( MP Assemly Session ) में विपक्ष सत्ताधारी बीजेपी को नर्सिंग घोटाले के मामले में लगातार घेर रही है। इस मुद्दे पर कांग्रेस लगातार मंत्री विश्वास सारंग पर आरोप लगा रही है। साथ ही उनके इस्तीफे की भी मांग कर रही है। 

आज फिर इस विषय में नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार ने बीजेपी और विश्वास सारंग को घेरा। नेता प्रतिपक्ष ने विश्वास सारंग पर राष्ट्रपति की गरिमा का मजाक बनाने का आरोप लगाया। 

बिना परमिशन वाली जगह का राष्ट्रपति से कराया शिलान्यास

विधानसभा में उमंग सिंघार ने 2022 में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा भोपाल में हृदय इंस्टिट्यूट ऑफ़ रेस्पिरेटरी डिसीज के शिलान्यास का मुद्दा उठाया था। सिंघार ने बताया कि यह जमीन एयरपोर्ट एयरपोर्ट अथॉरिटी और आर्मी के अंतर्गत आती है। इस जमीन का शिलान्यास बिना आर्मी और एयरपोर्ट अथॉरिटी से NOC लिए कर दिया गया। शिलान्यास के बाद भी इस जमीन का NOC नहीं मिला।

उमंग सिंघार ने इस घटना को शर्मनाक बताया। उन्होंने कहा कि NOC होने के बाद राष्ट्रपति को वहां ले जाना था। सिंघार ने कहा कि देश के दलित समाज से आने वाले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की गरिमा के विषय में सोचा जाना चाहिए। 

विधानसभा में उमंग सिंघार- 

ये खबर भी पढ़िए...

नेता प्रतिपक्ष Umang Singhar ने कहा- Lokayukta की नियुक्ति असंवैधानिक

विश्वास सारंग पर निशाना साध रही कांग्रेस 

नर्सिंग घोटाले मामले में कांग्रेस पूरी तरह से बीजेपी नेता विश्वास सारंग को घेर रही है। कांग्रेस इसे व्यापमं पार्ट 2 बता रही है। साथ ही इस मामले में विश्वास सारंग से इस्तीफे की मांग की जा रही है। दरअसल जब नर्सिंग कॉलेजों की मान्यता और जांच को लेकर मध्य प्रदेश में पूरा विवाद हुआ, उस समय विश्वास सारंग प्रदेश में चिकित्सा शिक्षा मंत्री थे। उनके मंत्री रहते ही घोटाला हुआ। 

विश्वास सारंग ने साजिश का लगाया आरोप 

कांग्रेस के लगातार हमले का जवाब देते हुए विश्वास सारंग ने विपक्ष पर साजिश करने का आरोप लगाया। उन्होंने अपने खिलाफ लगे सभी आरोपों को झूठा और भ्रामक बताया। साथ ही उन्होंने कहा कि इस मामले में षड़यंत्र हुआ है और वे जल्द ही इसका खुलासा करेंगे। 

क्या है नर्सिंग घोटाला ?

मध्य प्रदेश में साल 2020 में नर्सिंग घोटाला उजागर हुआ। इसमें यह पता चला कि प्रदेश में कई ऐसे नर्सिंग कॉलेजों को स्टेट नर्सिंग काउंसिल से मान्यता प्राप्त है जिनका अस्तित्व सिर्फ कागजों पर है। मामला उजागर होने के बाद यह कोर्ट पहुंचा। कोर्ट ने प्रदेश के सभी 375 कॉलेजों की CBI जांच के आदेश दिए। अब इस CBI जांच में भी भ्रष्टाचार सामने आया है। कई सीबीआई अफसरों को कॉलेज प्रशासन से रिश्वत लेकर गलत रिपोर्ट बनाते पकड़ा गया है। 

नर्सिंग घोटाला मध्य प्रदेश विधानसभा का मानसून सत्र

मध्य प्रदेश विधानसभा का मानसून सत्र मध्य प्रदेश विधानसभा नर्सिंग घोटाला मानसून सत्र रामनाथ कोविंद विश्वास सारंग उमंग सिंघार