Raisen News : बाघ के हमले से ग्रामीण की मौत, एक पैर और सिर खाया

मध्‍य प्रदेश के रायसेन जिले के नीमखेड़ा गांव के निवासी मनीराम जाटव जंगल में तेंदूपत्ता तोड़ने गए थे, नीमखेड़ा कुशियारी के पास जंगल में जानवर ने उन पर हमला कर दिया और उनका पैर और सिर खा लिया।

author-image
Deepesh Kumar Singh
New Update
Tiger Attack

Tiger Attack

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

रायसेन. मध्य प्रदेश के रायसेन जिले के नीमखेड़ा गांव में तेंदूपत्ता तोड़ने गए एक ग्रामीण पर जंगली जानवर ने हमला कर दिया, जिससे उस व्यक्ति की मौत हो गई। वन विभाग द्वारा अभी इस बात की पुष्टि नहीं की गई है कि हमला बाघ ( Tiger Attack ) ने किया था या तेंदुए ने।

नीमखेड़ा निवासी 58 वर्षीय मनीराम जाटव बुधवार को तेंदूपत्ता तोड़ने गया था पूर्व वन परिक्षेत्र नीमखेड़ा कुशियारी के पास जंगल में जंगली जानवर ने उस पर हमला कर दिया जिसमे जानवर ने उसका एक पैर और सिर खाया है। ग्रामीणों के सूचना पर वनविभाग के एसडीओ सुधीर पटले, रेंजर प्रवेश पाटीदार, बृजेंद्र तिवारी, डिप्टी रेंजर सीजन मीणा,सहित एसडीएम पीसी शाक्य मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों से जानकारी ली।

एसडीओ सुधीर पटले ने बताया कि जांच के दौरान प्रथम दृष्टिया तेंदुए द्वारा हमला करना पाया गया है। हमला बाघ ने या तेंदुए ने किया इसकी जांच के बाद ही पुष्टि हो पाएगी।

ये खबर भी पढ़े ..

Bike Thief : प्रेमिकाओं को घुमाने के लिए युवक ने चुराईं 150 बाइक, फिर इन्हें बेचकर दिए महंगे गिफ्ट

ये खबर भी पढ़े ..

भोपाल रेप केस : जेल में रोया आरोपी स्कूल संचालक , सस्पेंड एसआई राजपूत को मिली जमानत

मार्च में रोड क्रॉस करते हुए दिखा था बाघ 

रायसेन के नीमखेड़ा में बाघ (Tiger) रोड क्रॉस करते हुए भी दिखाई दिया था। बाइक चलाने वाले कुछ लोगों ने बाघ की वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर अपलोड कर दी थी। इस साल ऐसी दूसरी घटना थी जिसमे बाघ दिखाई दिया था, इससे पहले फरवरी में भी रायसेन जिले में बाघ दिखाई दिया था। 

वन विभाग के अधिकारी ने बताया कि नीमखेड़ा के पास घना जंगल है, बाघ रोड पार करके जंगल के दूसरे भाग में जा रहा था। 

ये खबर भी पढ़े ..

इंदौर नगर निगम बिल घोटाले में निकली पुराने भ्रष्टाचारी असलम बेलदार के रिश्तेदारों की फर्जी फर्म

ये खबर भी पढ़े ..

बेटे की हत्या के बाद दहशत में परिवार, हत्यारों के डर से घर की दीवार पर लिखा- मकान बेचना है

रायसेन किले में भी दिखा था बाघ 

मार्च महीने में रायसेन किले में बाघ दिखाई दिया था। वन विभाग की टीम ने बाघ को पकड़ने के लिए बाड़े में बकरी के बच्चे को रखा था ताकि उसकी आवाज सुनकर बाघ उसे खाने आए और वन विभाग की टीम उसे पकड़ ले।  बाघ दिखने के कुछ दिन बाद रायसेन किले में तेंदुआ भी दिखाई दिया था। 

 

Raisen News Madhya Pradesh Hindi News tiger attack बाघ का हमला