खुद की ही कंपनी से हटाए गए फाउंडर बायजू रवींद्रन, फैमिली को भी दिखाया बाहर का रास्ता

एडटेक कंपनी बायजूस के इन्वेस्टर्स ने कंपनी के फाउंडर-CEO रवींद्रन बायजू, उनकी पत्नी दिव्या गोकुलनाथ और भाई रिजु रवींद्रन को बोर्ड से हटा दिया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शुक्रवार (23 फरवरी) को एक्स्ट्राऑर्डिनरी जनरल मीटिंग (EGM) में यह फैसला किया गया।

author-image
Pratibha Rana
New Update
hnyh

फाउंडर बायजू रवींद्रन

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

BHOPAL. कर्ज के बोझ तले दबी एडटेक कंपनी बायजू (Byju's) से फाउंडर और सीईओ बायजू रविंद्रन ( Byju's CEO Raveendran Byju ), उनकी पत्नी दिव्या गोकुलनाथ और भाई रिजु रवींद्रन को बोर्ड से हटा दिया गया है। जानकारी के अनुसार 23 फरवरी को एक्स्ट्राऑर्डिनरी जनरल मीटिंग (EGM) में यह फैसला किया गया। बताया जा रहा है कि प्रोसस, जनरल अटलांटिक और पीक एक्सवी जैसे कई ब्लू चिप इन्वेस्टर्स ने EGM में रवींद्रन और उनकी फैमिली को हटाने के लिए वोट किया। हालांकि बायजू रविंद्रन के परिवार ने इस वोटिंग को अवैध बताया है (Byju's Trouble )। 

ये खबर भी पढ़िए...छिंदवाड़ा समेत BJP इन 5 लोकसभा सीट पर सबसे पहले तय करेगी उम्मीदवार

रविंद्रन को कंपनी से बाहर निकालने की तैयारी!

कंपनी बायजू ( Byju's Crisis) को रविंद्रन ने शुरुआत में अरब डॉलर की फर्म बनाकर बुलंदियों पर पहुंचाया, उस CEO बायजू रविंद्रन को ही अब कंपनी से बाहर का रास्ता दिखाने की तैयारी की जा रही है। दरअसल 23 फरवरी को कंपनी के शेयरहोल्डर्स ने मिस-मैनेजमेंट और फेलियर्स को लेकर एक EGM बुलाई। इसमें इन्वेस्टर्स प्रोसस, जनरल अटलांटिक और पीक XV जैसे बड़े शेयरहहोल्डर्स ने कंपनी के फाउंडर बायजू रवींद्रन और उनके परिवार के सदस्यों को बाहर निकलने का प्रस्ताव पर अपनी मंजूरी दे दी।

ये खबर भी पढ़िए...सैलाना विधायक कमलेश्वर डोडियार पर एक करोड़ मांगने का आरोप, वीडियो जारी

कंपनी की ईजीएम में लिया ये निर्णय

शेयरहोल्डर्स ने सर्वसम्मति से कंपनी के फाउंडर सीईओ बायजू रवींद्रन और उनके परिवार को हटाए जाने के पक्ष में वोट किया है। बायजू रवींद्रन के परिवार ने इस वोटिंग को अवैध बताया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बायजू रवींद्रन और उनके परिवार को कंपनी को गलत तरीके से चलाने के चलते हटाया गया है। यह फैसला कंपनी की ईजीएम में लिया गया। 

अब बायजू के बारे में विस्तार से जानिए...

बायजू भारत की सबसे बड़ी एडटेक कंपनी है। इसकी स्थापना 2011 में बायजू रवींद्रन और उनकी पत्नी दिव्या गोकुलनाथ ने की थी। बायजू'स स्कूली छात्रों के लिए ऑनलाइन शिक्षा प्रदान करता है, जिसमें के-12 पाठ्यक्रम, प्रतियोगी परीक्षा तैयारी और कौशल विकास पाठ्यक्रम शामिल हैं। 

ये खबर भी पढ़िए...AAP-कांग्रेस में लोकसभा सीट शेयरिंग तय, पंजाब में नहीं बनी बात

बायजू'स की पेशकशों में शामिल हैं:

  • बायजू'स कक्षा: यह एक लाइव ऑनलाइन शिक्षा मंच है जो छात्रों को वास्तविक समय में शिक्षकों से जुड़ने की अनुमति देता है।

  • बायजू'स लर्निंग ऐप: यह एक ऑफ़लाइन शिक्षा ऐप है जो छात्रों को वीडियो पाठ, अभ्यास प्रश्न और गेम के माध्यम से सीखने की अनुमति देता है।

  • बायजू'स परीक्षा तैयारी: यह प्रतियोगी परीक्षाओं, जैसे कि जेईई, नीट और यूपीएससी के लिए तैयारी करने वाले छात्रों के लिए एक ऑनलाइन शिक्षा मंच है।

  • बायजू'स फ्यूचर स्किल्स: यह छात्रों को कौशल विकास पाठ्यक्रम प्रदान करता है, जैसे कि कोडिंग, डेटा साइंस और डिजाइन।

ये खबर भी पढ़िए...राममय होगा राजिम कुंभ कल्प, अयोध्या धाम की तर्ज पर मुख्य पंडाल तैयार

ट्यूशन पढ़ाने से की थी शुरुआत

एडुटेक कंपनी बायजूस बिजनेस जगत में कभी देश की सबसे दौलतमंद स्टार्टअप कंपनी में गिनी जाती थी। वहीं पर कंपनी के मालिक बायजू रवींद्रन की नेटवर्थ 5 अरब डॉलर (करीब 41,715 करोड़ रुपए) होती थी। बायजू की स्थापना 2011 में हुई थी। बायजू रवींद्रन और उनकी पत्नी दिव्या गोकुलनाथ ने इसकी शुरुआत की थी। बायजू एक भारतीय बहुराष्ट्रीय शैक्षिक प्रौद्योगिकी कंपनी है। इसका हेडक्वार्टर बैंगलोर में है। बायजू ने ट्यूशन पढ़ाने से शुरुआत की थी। पहले उन्होंने दोस्तों को ट्यूशन पढ़ाया, फिर छात्रों से भरे बड़े-बड़े ऑडिटोरियम में 2011 में, बायजू की पेरेंट कंपनी-थिंक एंड लर्न की स्थापना हुई। इसका फोकस ऑनलाइन और क्लास 12 पर था। 2015 में बायजू ने अपना ऐप लॉन्च किया था।

Byjus बायजूस Byju's Trouble Byju's CEO Raveendran Byju Byju's Crisis