पुणे पोर्श एक्सीडेंट केस : नाबालिग का दादा भी गिरफ्तार, ड्राइवर को धमकाने का है आरोप

पुणे पुलिस प्रमुख ने कहा था कि यह साबित करने का प्रयास किया गया है कि कार नाबालिग नहीं चला रहा था। अब इसी मामले में पुलिस ने नाबालिग के दादा को गिरफ्तार किया है।

author-image
Amresh Kushwaha
New Update
आरोपी का दादा हुआ गिरफ्तार
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

Pune Porsche Accident Case: पुणे पोर्श कार एक्सीडेंट केस में नाबालिग आरोपी के दादा सुरेंद्र अग्रवाल को पुणे पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, सुरेंद्र अग्रवाल ने ड्राइवर को धमकाया और उसे घर नहीं जाने दिया।

ये खबर भी पढ़िए...पुणे पोर्श कांड : सामने आई पुलिस की सबसे बड़ी लापरवाही

ड्राइवर ने की पुलिस कंप्लेंट

ड्राइवर ने सुरेंद्र अग्रवाल के खिलाफ पुलिस कंप्लेंट दायर की है, जिसके आधार पर सुरेंद्र अग्रवाल पर अपहरण के भी चार्ज लगाए जाएंगे।

पुणे पुलिस प्रमुख दी जानकारी

पुणे पुलिस प्रमुख अमितेश कुमार ने कहा था कि यह साबित करने का प्रयास किया गया है कि कार ड्राइवर नहीं चला रहा था।

एक अन्य अधिकारी ने कहा कि एक्सीडेंट के बाद नाबालिग के दादा और पिता ने ड्राइवर का फोन कथित तौर पर ले लिया, उसे 19 मई से 20 मई तक उनके बंगले के परिसर में बंधक बनाकर रखा। ड्राइवर की पत्नी से उसे छुड़ाया।

ये खबर भी पढ़िए...जबलपुर : पूर्व विधायक किशोर समरीते एसटी-एससी से बरी पर काटनी होगी सजा

इन धाराओं में हुआ केस दर्ज

पुलिस ने किशोर के दादा और पिता के खिलाफ IPC की धारा 365 (किसी व्यक्ति को गुप्त रूप से और गलत तरीके से कैद करने के इरादे से अपहरण करना) और 368 (गलत तरीके से छिपाना या कैद में रखना) के तहत एक अलग केस दर्ज किया है।

आरोपी के दादा-पिता समेत अब तक 7 गिरफ्तार

मामले में आरोपी के दादा और पिता सहित अब तक 7 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं। इनमें 5 लोग दो पब के मालिक, मैनेजर और स्टाफ हैं। इनकी पहचान कोजी रेस्टोरेंट के मालिक प्रह्लाद भूतड़ा, उसका मैनेजर सचिन काटकर, ब्लैक क्लब होटल के मैनेजर संदीप सांगले और उसका स्टाफ जयेश बोनकर और नितेश शेवानी शामिल हैं। इन पर नाबालिग आरोपी को शराब परोसने का आरोप है।

ये खबर भी पढ़िए...फैक्ट चेक : जमानत मिलने के बाद नाबालिग आरोपी ने रैप सॉन्ग बनाया, फिर से दिखाऊंगा सड़क पर खेल... सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा रैप वीडियो

नाबालिग आरोपी को कोर्ट ने न्यायिक हिरासत में भेजा

इससे पहले शुक्रवार को नाबालिग आरोपी को कोर्ट ने 14 दिनों ( 5 जून तक ) की न्यायिक हिरासत में सुधार गृह में भेज दिया था। नाबालिग रियल एस्टेट डेवलपर विशाल अग्रवाल का बेटा है। पुलिस पहले ही विशाल अग्रवाल को गिरफ्तार कर चुकी है। उन्हें कोर्ट ने  24 मई दिन शुक्रवार को न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

19 मई की है घटना

पुणे के कल्याणी नगर में 19 मई को नाबालिग ने अपनी पोर्शे कार से मोटरसाइकिल सवार दो सॉफ्टवेयर इंजीनियर को टक्कर मार दी थी। इस हादसे में दोनों की मौत हो गई थी।

ये खबर भी पढ़िए...मध्य प्रदेश में अंधेरगर्दी... गोदामों में 10 हजार करोड़ के गेहूं को पानी डालकर सड़ाया

दो पुलिसकर्मी सस्पेंड

पुलिस ने दावा किया है कि नाबालिग नशे की हालत में कार चला रहा था। बाद में नाबालिग को जमानत मिल गई। इसके बाद मामले ने देशभर में सुर्खियां बटोरी और पुलिस को खूब आलोचना मिली। इसके बाद पुलिस ने नए सिरे से कार्रवाई शुरू की। शुक्रवार को ही लापरवाही के आरोप में दो पुलिसकर्मी को सस्पेंड कर दिया गया।

thesootr links

 सबसे पहले और सबसे बेहतर खबरें पाने के लिए thesootr के व्हाट्सएप चैनल को Follow करना न भूलें। join करने के लिए इसी लाइन पर क्लिक करें

द सूत्र की खबरें आपको कैसी लगती हैं? Google my Business पर हमें कमेंट के साथ रिव्यू दें। कमेंट करने के लिए इसी लिंक पर क्लिक करें

पुणे पोर्श कार एक्सीडेंट केस Pune Porsche Accident Case